टी फुटबॉल टीमें

टी फुटबॉल टीमें

time:2021-10-29 01:13:04 ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक? Views:4591

188bet बोनस टी फुटबॉल टीमें 10cric भारत में वैध है,casumo सट्टेबाजी की समीक्षा,लियोवेगास नॉर्गे,lovebet सट्टेबाजी,lovebet फिल्में तमिल,lovebet एक्स-नेट-सिंक-टर्म,abzorba लाइव ब्लैकजैक मनी हैक,बैकारेट ई शॉप,बैकरेट तकनीकी नाटक,सट्टेबाजी गुरुजी,कैसीनो 888 खेल,कैसीनो कार्ड गेम,क्लासिक रम्मी इंडिया,क्रिकेट आईसीसी,एक लवबेट ऐप डाउनलोड करें,यूरोपीय फुटबॉल सूचना,फुटबॉल प्रबंधक विश्व,उत्पत्ति कैसीनो निवेश,बैकारेट कैसे जीत सकता है,आईपीएल जीएमपी,जैकपॉट रेस्टोरेंट,मेरे पास लाइव लाठी,लाइव रूले व्हील स्पिन,लॉटरी वियतनाम,ना लॉटरी सांबद रात,ऑनलाइन कैसीनो साइट,ऑनलाइन पोकर मुफ्त डाउनलोड नहीं,परिमाच जमा,पोकर चेहरा जी,आर रम्मी एपीके डाउनलोड,नियम और कानून की परिभाषा,ताश का खेल रम्मी,घर के लिए स्लॉट मशीन,खेल 0,स्पोर्ट्सबुक फैंडुएल,टेक्सास होल्डम हांडे,आज का लाइव फुटबॉल मैच,क्या खुश किसान,एक्स फुटबॉल लीग,इलेक्ट्रॉनिक खेल site,कैसीनो के खेल विधि,गोवा एक्सप्रेस,झांसी बकरा मंडी,फुटबॉल या खेळाची संपूर्ण माहिती,बेटा पिक्चर मधले गाने,लॉटरी खेला रिजल्ट,स्पोर्ट्स वर्ल्ड ११ .ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

31 में से 23 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. 4 का कहना है कि इसे होल्ड करना चाहिए.
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (क्रूड) की कीमत मजबूत हुई है. इसके साथ ही ओएनजीसी में विश्लेषकों की दिलचस्पी भी कई गुना बढ़ गई है. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कंपनी का औसत रियलाइजेशन (प्राप्ति) 43 डॉलर प्रति बैरल रहा. लिहाजा, हाल में कच्चे तेल की कीमतों में उछाल से ओएनजीसी को फायदा हो सकता है. मध्यम अवधि में क्रूड की कीमत 50 डॉलर से 70 डॉलर प्रति बैरल के बीच स्‍टेबल रह सकती है. तेल निर्यात करने वाले देशों के संगठन ओपेक के हस्तक्षेप से ऐसा हो सकता है. पिछली बैठक में सऊदी अरब ने खुद से उत्पादन में रोजाना 10 लाख बैरल की कमी जारी रखने पर सहमति जताई थी. दूसरे देशों ने भी उत्‍पादन नहीं बढ़ाने पर हामी भरी थी.

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है. निवेशकों की चिंता का यह बड़ा विषय था. हालांकि, विश्लेषक कहते हैं कि ओएनजीसी प्रोडक्‍शन के स्‍तर को कायम रखने में सफल रही है. जबकि दूसरी अपस्ट्रीम ऑयल कंपनियां ऐसा नहीं कर सकीं. यही कारण है कि ओएनजीसी की कुल प्रोडक्‍शन में हिस्सेदारी पिछले 10 साल में 53 फीसदी से बढ़कर 70 फीसदी हो गई.

इसे भी पढ़ें : नई व्हीकल स्क्रैपेज पॉलिसी का आपके लिए क्‍या है मतलब?

ओएनजीसी का क्रूड ऑयल प्रोडक्‍शन स्थिर बने रहने के आसार हैं. 2022-23 तक ओएनजीसी की अपना घरेलू गैस उत्पादन 0.3 एमएमएससीएमडी (मिलियन मेट्रिक स्‍टैंडर्ड क्‍यूबिक मीटर्स रोजाना) बढ़ाकर 8-9 एमएमएससीएमडी कर लेने की योजना है. 2023-24 तक 15 एमएमएससीएमडी तक पहुंचाने की तैयारी है.

मोजांबिक में ओएनजीसी विदेश और ऑयल इंडिया समर्थित ऑनशोर एलएनजी डेवलपमेंट की अच्छी प्रगति है. रोवुमा ऑफशोर एरिया-1 प्रोजेक्ट ने हाल में पहला चरण पूरा कर लिया है. वह प्रोजेक्ट के लिए अपने कर्जदारों से पैसा पाने के लिए तैयार है.

इसे भी पढ़ें : सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

ऑयल और गैस सेक्टर की कंपनियों के लिए सरकार का हस्तक्षेप मुख्य चुनौती रही है. पेट्रोलियम प्रोडक्‍टों को जीएसटी व्यवस्था में शामिल करने की मांग बढ़ रही है. वैसे, पेट्रोल और डीजल पर जीएसटी लागू होने की संभावना अभी कम है. विश्लेषकों को उम्मीद है कि सरकार आने वाले वर्षों में घरेलू प्राकृतिक गैस के मूल्य में मौजूद विसंगति को दूर करेगी. इसके चलते घरेलू उत्‍पादन को नुकसान होता है. इसके बाद ओएनजीसी को उसकी घरेलू प्राकृतिक गैस के लिए अच्‍छी दरें प्राप्‍त होंगी.

ओएनजीसी अभी उचित वैल्यूएशन पर कारोबार कर रही है. विश्लेषकों का इस शेयर में आकर्षण बढ़ने का यह भी एक कारण है. इसकी कमाई में बड़ी बढ़ोतरी होने की उम्मीद है. 31 में से 23 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. 4 का कहना है कि इसे होल्ड करना चाहिए. 4 ने ही इसमें बिक्री की राय दी है.

master6

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

ONGC share priceओएनजीसी शेयर प्राइसन‍िवेश की सलाहउत्‍पादनक्रूडविश्‍लेषकों की रायओएनजीसी

ETPrime stories of the day

Two’s company, three’s a cloud: the haze of Srei’s curious transactions with a trio of businessmen
Under the lens

Two’s company, three’s a cloud: the haze of Srei’s curious transactions with a trio of businessmen

6 mins read
As crude likely to hit 2008 highs, get ready to fork out INR150 for a litre of petrol
Oil prices

As crude likely to hit 2008 highs, get ready to fork out INR150 for a litre of petrol

7 mins read
3 Idiots clicked right, but India needs its own Samsung and Squid Game to hook global audience
Brands

3 Idiots clicked right, but India needs its own Samsung and Squid Game to hook global audience

12 mins read

साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.समय गुजरने के साथ उन्‍हें इक्विटी में निवेश कम कर देना चाहिए. इसके बजाय धीरे-धीरे डेट फंडों की ओर रुख करना चाहिए.कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.सुपर साइकिल का ऐसे उठाएं फायदा, इन कमोडिटीज पर लगाएं दांव

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.पिछले साल से अब तक बड़े उतार-चढ़ाव हुए हैं. लोगों ने कोरोना की महामारी के कहर को देखा और अब जिंदगी को पटरी पर लौटते देख रहे हैं. शायद ही यह दौर भुलाए भूलेगा. हालांकि, इससे कई सबक भी मिले हैं. ये करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
लाइव रूले ऑस्ट्रेलिया

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.

बैकरेट मास्टर

महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.

या क्रिकेट यूट्यूब

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विभिन्न फॉर्मेट में चुनौतियों और अड़चनों को दूर करने के लिए सीआईआई के तहत खुदरा सेक्‍टर के लोगों का मानना है कि सरकार को एक मजबूत रिटेल पॉलिसी लानी चाहिए.

ऑनलाइन कैसीनो ब्रिटेन राजाकैसीनोबोनस

भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.

betway फ्री स्पिन

एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी