स्लॉट 2 (1 के 2 बैंक)

स्लॉट 2 (1 के 2 बैंक)

time:2021-10-26 00:59:18 सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल Views:4591

रमी - मतलब हिंदी में स्लॉट 2 (1 के 2 बैंक) betway फुटबॉल भविष्यवाणी,fun88 पेनिपु,lovebet 49s परिणाम,lovebet कैसे खेलें,lovebet टैक्स इंडिया,3 रील स्लॉट APK,बैकरेट विश्लेषण सॉफ्टवेयर पंजीकरण कोड,बैकारेट खुला और कितनी बार,बेस्ट ऑफ फाइव एपीके डाउनलोड,सट्टेबाज यूरोपीय कप,कैसीनो प्रयोगशाला,जुआ के लिए शतरंज और कार्ड,क्रिकेट बुक आईडी,क्रिकेट याहू,यूरोपीय सट्टेबाजों ने खुला मुआवजा,फुटबॉल सट्टेबाजी का अनुभव,जी पोकर चिप,खुश किसान गिटार टैब,मैं अपना लवबेट पासवर्ड भूल गया,जैकबॉक्स गेम्स क्विप्लाश,ला लीगा प्रसारण,लाइव कैसीनो यूट्यूब,लॉटरी खेला 19 तारीख,लूडो जेनिथ,ऑनलाइन नकद खेल मकाउ गेमिंग,ऑनलाइन गेम रेसिंग बाइक,केवल मनोरंजन के लिए ऑनलाइन स्लॉट,पोकर 0 से 10000,पोकर विकी,रूले कन्नड़ में अर्थ,रम्मी क्लब ऑनलाइन,भीड़ और मछली पकड़ना 4,राम के लिए स्लॉट,खेल अधिकारी भर्ती 2021,तीन पत्ती मुक्त खेल,नवीनतम बोर्ड गेम रैंकिंग,आभासी क्रिकेट गेंदबाजी मशीन,वाइल्डज़ डेमो,ipl फ्री में कैसे देखें,करीना धमाल,क्रिकेट लाइव आईपीएल,छात्र लॉटरी संगबाद,पांच ड्रैगन फिशिंग,बरसात मूवी बॉबी देओल,रमी रंधावा,स्टेटस धांसू, .सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

क्रिप्‍टोकॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
हाल के कुछ समय में युवाओं की क्रिप्‍टोकरेंसी में दिलचस्‍पी बढ़ी है. इसे देखते हुए नए युग की टेक्‍नोलॉजी कंपनियां ऐसे कर्मचारियों को उनकी सैलरी का कुछ हिस्‍सा, बोनस या अन्‍य इंसेंटिव क्रिप्‍टोकरेंसी में दे रही हैं. कंपनियों के लिए यह पेमेंट का आसान और तेज तरीका है. वहीं, क्रिप्‍टोकरेंसी के बढ़ते मूल्‍य कर्मचारियों को लुभा रहे हैं.

कंपनियों ने इसके लिए दो तरीके अपनाएं हैं. पहला, खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराना और कानूनी या टैक्‍स संबंधी अड़चनों से कर्मचारियों को बचाने के लिए क्रिप्‍टोकरेंसी में उन्‍हें पेमेंट करना है. दूसरा, पेमेंट का रिकॉर्ड रुपये में ट्रांजैक्‍शन के तौर पर अपने बहीखातों में दर्ज करना है.

इसे भी पढ़ें : फ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

यह कैसे काम करता है?
- क्रिप्‍टो कॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
- कंपनियों ने यह भी सुनिश्चित किया है कि रुपया क्रिप्‍टो कॉइन में कन्‍वर्ट हो सके और रुपये ट्रांजैक्‍शन के तौर पर पेमेंट रिकॉर्ड हों.
- ऐसी ज्‍यादातर कंपनियां टीथर (यूएसडीजी) का इस्‍तेमाल करती हैं. ये ज्‍यादा स्थिर क्रिप्‍टोकरेंसी हैं. इसका कन्‍वर्जन 1 डॉलर से सीधे 1 यूएसडीटी में हो जाता है.
- अन्‍य इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन में पेमेंट करती हैं.

देश में स्थिति नहीं है साफ
देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं. चेन एसेट्स कैपिटल नाम के क्रिप्‍टो हेज फंड के प्रमुख उपिंदर प्रीत सिंह ने कहा कि भारत में क्रिप्‍टोकरेंसी की मान्‍यता को लेकर बहुत से नियम हैं. इनमें स्‍पष्‍टता का भी अभाव है.

पटना में रहने वाले कंसल्‍टेंट सुजीत कुमार ने कहा, ''क्रिप्टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये ऑल्‍टकॉइन को भुनाने के बाद मैंने इस रकम को टैक्‍स रिटर्न में कंसल्‍टेंट फीस के तौर पर इनकम में दिखाया है.''

इसे भी पढ़ें : अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

कुमार को इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन जैसे ऑल्‍टकॉइन का भुगतान होता है. इसे वह भारतीय क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये भुनाते हैं. वह कहते हैं, ''मैं अमूमन अपनी जरूरत के अनुसार कॉइंस को कन्‍वर्ट करता हूं. मेरे ज्‍यादातर क्‍लाइंट क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट में हैं. लिहाजा, ट्रांजैक्‍शन आसानी और तेजी से हो जाता है. मैंने पिछले साल का अपना बोनस भी क्रिप्‍टोकरेंसी के जरिये लिया है.''

एक क्रिप्‍टोकरेंसी न्‍यूज वेबसाइट के सीईओ ने कहा, ''हम जहां क्रिप्‍टाकरेंसी में सैलरी का भुगतान करते हैं, वहां नियमों का पूरा पालन किया जाता है. कर्मचारियों को रुपये में सैलरी स्लिप दी जाती है. यह कर्मचारियों की क्रिप्‍टो में सैलरी स्लिप की आशंका को दूर सकता है.''

क्‍या है सरकार का रुख?
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शनिवार को कहा कि सरकार गवर्नेंस में सुधार के लिए क्रिप्टोकरेंसी सहित नई तकनीकों पर विचार करने को तैयार है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद गवर्नेंस के विभिन्न पहलुओं में टेक्‍नोलॉजी को अपनाने के मजबूत समर्थक हैं. इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा था कि सरकार अभी भी क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी राय तैयार कर रही है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीप्‍लास टोकनट्रांजैक्‍शनसैलरी और पर्क्‍स का पेमेंटइथीरियम

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने सोमवार को केबल टेलीविजन सेवाओं में बाजार संरचना और प्रतिस्पर्धा से संबंधित मुद्दों पर एक परामर्श पत्र जारी किया और हितधारकों से टिप्पणियां आमंत्रित कीं। ट्राई ने एक बयान में कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के एक संदर्भ के बाद यह कदम उठाया गया है। ट्राई ने कहा कि मंत्रालय ने केबल टीवी सेवाओं में एकाधिकार और बाजार में एकाधिकार से संबंधित मुद्दों पर 12 दिसंबर, 2012 को उससे सिफारिशें मांगी थीं। एक उचित विचार-विमर्श प्रक्रिया के बाद, प्राधिकरण ने 26 नवंबर, 2013 को उस पर सिफारिशें जारी कीदुबई, 25 अक्टूबर (भाषा) कोलकाता के दिग्गज उद्योगपति संजीव गोयनका के आरपी-एसजी समूह ने सोमवार को इंडियन प्रीमियर लीग की लखनऊ फ्रेंचाइजी 7090 करोड़ रुपये में खरीदी जबकि अंतरराष्ट्रीय इक्विटी निवेश फर्म सीवीसी कैपिटल ने अहमदाबाद फ्रेंचाइजी 5600 करोड़ रुपये की बोली लगाकर अपने नाम की।भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को 2022 से आईपीएल में हिस्सा लेने वाली दो नई टीमों से 10 हजार करोड़ रुपये के आसपास मिलने की उम्मीद थी लेकिन उसे 12,690 करोड़ रुपये की कमाई हुई।पीटीआई ने रविवार को अपनी खबर में कहा था कि गोयनका फ्रेंचाइजी खरीदने के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं। इससे पहले आईपीएल मेंरामको सीमेंट्स का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 519.12 करोड़ रुपये

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को महात्मा गांधी राष्ट्रीय फेलोशिप के दूसरे चरण की शुरुआत की। दो वर्षीय फेलोशिप का मकसद युवाओं के लिये अवसर सृजित करना और जमीनी स्तर पर कौशल विकास को बढ़ाना है। ‘फेलोशिप’ के तहत शैक्षणिक भागीदार आईआईएम (भारतीय प्रबंधन संस्थान) द्वारा कक्षा सत्रों को जिला स्तर पर क्षेत्र में व्यापक अनुभव के साथ संयोजित करने का प्रयास किया गया है। इसका उद्देश्य रोजगार, आर्थिक उत्पादन बढ़ाने और आजीविका को प्रोत्साहन देने के लिए विश्वसनीय योजनाएं बनाने तथा इनसे जुड़ी बाधाओं की पहचान करना है। इस मौके परउन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विभिन्न फॉर्मेट में चुनौतियों और अड़चनों को दूर करने के लिए सीआईआई के तहत खुदरा सेक्‍टर के लोगों का मानना है कि सरकार को एक मजबूत रिटेल पॉलिसी लानी चाहिए.देश में बिजली की कमी नहीं: आर के सिंह

पिछले साल से अब तक बड़े उतार-चढ़ाव हुए हैं. लोगों ने कोरोना की महामारी के कहर को देखा और अब जिंदगी को पटरी पर लौटते देख रहे हैं. शायद ही यह दौर भुलाए भूलेगा. हालांकि, इससे कई सबक भी मिले हैं. ये करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.जियोफोन नेक्स्ट 4जी स्मार्टफोन 30 करोड़ 2जी उपयोगकर्ताओं, क्षेत्रीय भाषा वाले लोगों को लक्षित करेगा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
कैसीनो खोज

अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.

फीनिक्स लीजेंड

कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.

दिन फुटबॉल युक्तियाँ

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) रामको सीमेंट्स लिमिटेड ने सोमवार को बताया कि सितंबर में समाप्त तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ करीब दोगुना से अधिक बढ़कर 519.12 करोड़ रुपये हो गया। इसका कारण टाले गये अतिरिक्त कर के एवज में किये गये प्रावधान की वापसी और बिक्री में वृद्धि होना है। कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि पिछले वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर अवधि के दौरान उसने 238.92 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कुल

नियम क्रॉसवर्ड सुराग

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.

एक्स फुटबॉल टीम

डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.

संबंधित जानकारी
लॉटरी जैकपॉट मेगा लाखों

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने सोमवार को केबल टेलीविजन सेवाओं में बाजार संरचना और प्रतिस्पर्धा से संबंधित मुद्दों पर एक परामर्श पत्र जारी किया और हितधारकों से टिप्पणियां आमंत्रित कीं। ट्राई ने एक बयान में कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के एक संदर्भ के बाद यह कदम उठाया गया है। ट्राई ने कहा कि मंत्रालय ने केबल टीवी सेवाओं में एकाधिकार और बाजार में एकाधिकार से संबंधित मुद्दों पर 12 दिसंबर, 2012 को उससे सिफारिशें मांगी थीं। एक उचित विचार-विमर्श प्रक्रिया के बाद, प्राधिकरण ने 26 नवंबर, 2013 को उस पर सिफारिशें जारी की

गरम जानकारी
मुंबई में क्रिकेट स्टेडियम

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को महात्मा गांधी राष्ट्रीय फेलोशिप के दूसरे चरण की शुरुआत की। दो वर्षीय फेलोशिप का मकसद युवाओं के लिये अवसर सृजित करना और जमीनी स्तर पर कौशल विकास को बढ़ाना है। ‘फेलोशिप’ के तहत शैक्षणिक भागीदार आईआईएम (भारतीय प्रबंधन संस्थान) द्वारा कक्षा सत्रों को जिला स्तर पर क्षेत्र में व्यापक अनुभव के साथ संयोजित करने का प्रयास किया गया है। इसका उद्देश्य रोजगार, आर्थिक उत्पादन बढ़ाने और आजीविका को प्रोत्साहन देने के लिए विश्वसनीय योजनाएं बनाने तथा इनसे जुड़ी बाधाओं की पहचान करना है। इस मौके पर