ऑनलाइन रियल मनी बेटिंग प्लेटफॉर्म

ऑनलाइन रियल मनी बेटिंग प्लेटफॉर्म

time:2021-10-26 01:12:26 म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ Views:4591

स्टेटस जोक्स ऑनलाइन रियल मनी बेटिंग प्लेटफॉर्म betway ऐप,fun88 हेल्पलाइन नंबर,lovebet 360 ऐप,lovebet ग्रुप नेट वर्थ,lovebet स्पोर्ट्स बेटिंग,lovebet्ना कोम्मेटेरी,baccarat 99th,बैकारेट को फॉर्मूला जीतना होगा,बेस्ट फाइव वाटर प्यूरीफायर,बोन अल्ट्रासाउंड,भारत में कैसीनो,शतरंज 64 बिट मुफ्त डाउनलोड,क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया लाइव स्कोर,क्रिकेट आभासी वास्तविकता हेडसेट,एस्पोर्ट्स टूरिज्म,फ़ुटबॉल खाता खोलने का तरीका,फ्री जिन रम्मी क्लासिक,खुश किसान एथेनरी,गेंद की बाधाओं को कैसे समझें,क्या वास्तविक लोगों द्वारा खेला जाने वाला कोई ऑनलाइन बैकारेट है,ख खेल प्रशंसक,लाइव कैसीनो तालिका न्यूनतम,लॉटरी इडाहो,लूडो टैलेंट एपीके डाउनलोड,ऑनलाइन बास्केटबॉल सट्टेबाजी,ऑनलाइन गेम पैसे कमाने वाला ऐप,असली पैसे के लिए ऑनलाइन स्लॉट,प्वाइंट रम्मी जॉब,पोकर अपस्विंग,रूले जेम्स बांड रणनीति,रम्मी एक कनास्ता,रम्मीकल्चर सॉफ्टवेयर,स्लॉट एक मजेदार सर्कस सर्कस,खेल लॉटरी यूरोपीय कप सट्टेबाजी,तीन पत्ती और बहार,फुटबॉल संघ,वीडियो सीएचीन स्लॉट,बैकारेट के लिए कौन सी वेबसाइट बेहतर है,cricket पाकिस्तान,औलाद स्टेटस,क्रिकेट न्यूज़ आज तक,चेस ट्रिक्स,दस स्कोर लॉटरी,बरसात डीजे सॉन्ग,रमी गेम क्या है,स्टेटस ज्ञान, .म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

यह म्यूचुअल फंड के प्रबंधन पर आने वाले खर्च को प्रति यूनिट में बताता है.
  1. म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम में एक्सपेंस रेशियो क्‍या होता है?
    एक्सपेंस रेशियो एक तरह का अनुपात है. यह म्यूचुअल फंड के प्रबंधन पर आने वाले खर्च को प्रति यूनिट में बताता है. किसी म्यूचुअल फंड स्‍कीम का एक्सपेंस रेशियो कैलकुलेट करने के लिए उसके एयूएम (एसेट अंडर मैनेजमेंट) में कुल खर्च से भाग दिया जाता है. दरअसल, फंड हाउस के पास प्रशिक्षित पेशेवरों की एक होती टीम है. यही टीम मार्केट और कंपनियों पर नजर रखती है. किसी शेयर को खरीदने या उससे निकलने के फैसले भी यही लेती है. इसके साथ ही एसेट मैनेजमेंट कंपनी (एमएमसी) ट्रांसफर और रजिस्ट्रार से संबंधित खर्च, कस्टोडियन, लीगल व ऑडिट का खर्च, स्कीम की मार्केटिंग और उसके डिस्ट्रीब्यूशन का खर्च भी उठाती है. ये सभी खर्च म्यूचुअल फंड की यूनिट खरीदने वाले ग्राहक से ही लिए जाते हैं. किसी म्यूचुअल फंड स्कीम की नेट एसेट वैल्यू इस तरह के खर्च को घटाने के बाद निकाली गई वैल्यू है.

  2. डायरेक्‍ट प्‍लान की तुलना में रेगुलर प्‍लान का एक्सपेंस रेशियो ज्‍यादा क्‍यों होता है?
    डायरेक्‍ट प्‍लान की पेशकश फंड हाउस सीधे करते हैं. यानी म्‍यूचुअल फंड कंपनी से इन प्‍लान को सीधे खरीदा जा सकता है. वहीं, रेगुलर प्‍लान इंडिपेंडेंट फाइनेंशियल एडवाइजर, बैंक या एनबीएफसी जैसे इंटरमीडियरी या डिस्ट्रीब्यूटरों के जरिये खरीदे जा सकते हैं. म्‍यूचुअल फंड कंपनी इंटरमीडियरी को कमीशन देती हैं. इसे प्‍लान के एक्‍सपेंस रेशियो के तौर पर वसूला जाता है. यही कारण है कि रेगुलर प्‍लान का एक्सपेंस रेशियो ज्यादा होता है.


  3. म्‍यूचुअल फंड के एक्सपेंस रेशियो के लिए क्‍या सीमा तय है?
    बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं. जिन स्कीम का एयूएम 500 करोड़ रुपये है, वे एक्सपेंस रेशियो के रूप में अधिकतम 2.25 फीसदी चार्ज कर सकती हैं. 500-750 करोड़ रुपये एयूएम वाली स्कीम के लिए एक्सपेंस रेशियो 2 फीसदी है. 750-2,000 करोड़ रुपये वाली स्‍कीमों के लिए एक्सपेंस रेशियो 1.75 फीसदी, 2,000-5,000 करोड़ एयूएम वाली स्कीम के लिए 1.6 फीसदी और 5000-10,000 करोड़ रुपये एयूएम वाले फंड के लिए एक्सपेंस रेशियो 1.5 फीसदी हो सकता है. सेबी के निर्देश के मुताबिक, 10,000-50,000 करोड़ एयूएम वाली स्कीम के लिए एक्सपेंस रेशियो हर 5000 करोड़ रुपये बढ़ने के बाद 0.05 फीसदी कम होता चला जाएगा. अगर किसी म्यूचुअल फंड स्कीम का एयूएम 50,000 करोड़ से अधिक है तो उसके लिए एएमसी एक्सपेंस रेशियो के रूप में 1.05 फीसदी चार्ज ले सकती है.


  4. क्‍या म्‍यूचुअल फंड के एक्‍सपेंस रेशियो का रिटर्न पर असर पड़ता है?
    एक्सपेंस रेशियो बताता है कि आपके निवेश पोर्टफोलियो के प्रबंधन के लिए फंड आपसे कितनी फीस वसूल रहा है. अगर आप 2 फीसदी एक्‍सपेंस रेशियो वाली स्‍कीम में 10,000 रुपये निवेश करते हैं तो इसका मतलब यह है कि इस रकम के प्रबंधन के लिए आपको 200 रुपये की फीस चुकानी होगी. इस तरह अगर फंड का रिटर्न 12 फीसदी और उसका एक्‍सपेंस रेशियो 2 फीसदी है तो आप 10 फीसदी रिटर्न कमाएंगे. इस तरह कम एक्सपेंस रेशियो का मतलब अधिक मुनाफा है. वहीं, एक्सपेंस रेशियो अधिक होने का मतलब मुनाफा घटना है. हालांकि, यह सही है कि ज्‍यादा एक्‍सपेंस रेशियो का फंड के रिटर्न पर असर पड़ता है. लेकिन, यह जरूरी नहीं है कि हमेशा अधिक एक्सपेंस रेशियो का मतलब कम मुनाफा ही हो. निवेशकों को स्‍कीम चुनने में कई अन्‍य बातों का भी ध्यान रखना चाहिए.


पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

एक्‍सपेंस रेशियोडायरेक्‍ट प्‍लानरिटर्नसेबीम्‍यूचुअल फंडरेगुलर प्‍लान

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) बेहतर तिमाही परिणाम से निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक के शेयर में सोमवार को 11 प्रतिशत का उछाल आया। चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में एकल आधार पर बैंक का शुद्ध लाभ 5,511 करोड़ रुपये रहा। यह किसी भी तिमाही के मुकाबले अबतक का सर्वाधिक लाभ है। बीएसई में बैंक का शेयर 10.80 प्रतिशत उछलकर 841.05 रुपये पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 13.25 प्रतिशत चढ़कर रिकॉर्ड 859.70 रुपये तक गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में बैंक का शेयर 11.51 प्रतिशत बढ़कर 846.85 रुपये पर बंद हुआ। कंपनी का बाजार मूल्यांकन बीएसई में 56,959.85नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने सोमवार को केबल टेलीविजन सेवाओं में बाजार संरचना और प्रतिस्पर्धा से संबंधित मुद्दों पर एक परामर्श पत्र जारी किया और हितधारकों से टिप्पणियां आमंत्रित कीं। ट्राई ने एक बयान में कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के एक संदर्भ के बाद यह कदम उठाया गया है। ट्राई ने कहा कि मंत्रालय ने केबल टीवी सेवाओं में एकाधिकार और बाजार में एकाधिकार से संबंधित मुद्दों पर 12 दिसंबर, 2012 को उससे सिफारिशें मांगी थीं। एक उचित विचार-विमर्श प्रक्रिया के बाद, प्राधिकरण ने 26 नवंबर, 2013 को उस पर सिफारिशें जारी कीआयात शुल्क घटाने के बाद आयातित तेल सस्ता होने से सभी तेल-तिलहन में गिरावट

निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी टेक महिंद्रा ने सोमवार को लोडस्टोन के अधिग्रहण की घोषणा की। यह नयी पीढ़ी की डिजिटल कंपनियों को इंजीनियरिंग गुणवत्ता की गारंटी प्रदान करने वाली कंपनी है। यह सौदा 10.5 करोड़ डॉलर यानी करीब 789 करोड़ रुपये में हुआ है। मुंबई की कंपनी ने कहा कि उसने 94 लाख डॉलर या करीब 97 करोड़ रुपये में डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू बाय बॉर्न लंदन लि. यूके का भी अधिग्रहण किया है। शेयर बाजारों को कंपनी ने यह जानकारी दी है। टेक महिंद्रा ने कहा कि इन्फोस्टार एलएलसी (लोडस्टोन) के अधिग्रहण से उसकी डिजाइन, निर्माण और परीक्षणएसआरएफ की दूसरी तिमाही में लाभ 21 प्रतिशत बढ़कर 382 करोड़ रुपये

Air India Gone to Tata: एयर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश के लिए सरकार ने आज टाटा संस के साथ शेयर खरीद समझौते पर हस्ताक्षर किए।शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.म्यूचुअल फंडों का एयूएम 41% बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये पहुंचा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
खेल लॉटरी h2

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.

क्रिकेट भारत बनाम श्रीलंका

दुबई, 25 अक्टूबर (भाषा) कोलकाता के दिग्गज उद्योगपति संजीव गोयनका के आरपी-एसजी समूह ने सोमवार को इंडियन प्रीमियर लीग की लखनऊ फ्रेंचाइजी 7090 करोड़ रुपये में खरीदी जबकि अंतरराष्ट्रीय इक्विटी निवेश फर्म सीवीसी कैपिटल ने अहमदाबाद फ्रेंचाइजी 5600 करोड़ रुपये की बोली लगाकर अपने नाम की।भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को 2022 से आईपीएल में हिस्सा लेने वाली दो नई टीमों से 10 हजार करोड़ रुपये के आसपास मिलने की उम्मीद थी लेकिन उसे 12,690 करोड़ रुपये की कमाई हुई।पीटीआई ने रविवार को अपनी खबर में कहा था कि गोयनका फ्रेंचाइजी खरीदने के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं। इससे पहले आईपीएल में

लॉटरी यूके परिणाम शनिवार की रात

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कपड़ा मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि उसने सड़कों, राजमार्गों, रेलवे और जल संसाधनों सहित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में जियो-टेक्सटाइल के इस्तेमाल के लिए कर्मियों को प्रशिक्षित करने को एक पायलट परियोजना को मंजूरी दे दी है। जियो-टेक्सटाइल एक तरह का फ्रैबिक होता है जिसे मिट्टी के मिलाकर इस्तेमाल करने पर एक मजबूत फ्रैबिक का निर्माण होता है। इसे आमतौर पर पॉलीप्रोपीलिन या पॉलिस्टर से बनाया जाता है। परियोजना का संचालन भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी), बेंगलोर, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की समानांतर रूप से करेंगे। एक आधिकारिक बयान में कहा गया

रमी मॉडल डाउनलोड

Air India Gone to Tata: एयर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश के लिए सरकार ने आज टाटा संस के साथ शेयर खरीद समझौते पर हस्ताक्षर किए।

बेस्ट ऑफ फाइव सीरीज एनबीए

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) बेहतर तिमाही परिणाम से निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक के शेयर में सोमवार को 11 प्रतिशत का उछाल आया। चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में एकल आधार पर बैंक का शुद्ध लाभ 5,511 करोड़ रुपये रहा। यह किसी भी तिमाही के मुकाबले अबतक का सर्वाधिक लाभ है। बीएसई में बैंक का शेयर 10.80 प्रतिशत उछलकर 841.05 रुपये पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 13.25 प्रतिशत चढ़कर रिकॉर्ड 859.70 रुपये तक गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में बैंक का शेयर 11.51 प्रतिशत बढ़कर 846.85 रुपये पर बंद हुआ। कंपनी का बाजार मूल्यांकन बीएसई में 56,959.85

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी