लॉटरी खेल सम्बाद

लॉटरी खेल सम्बाद

time:2021-10-29 01:58:27 सरकार को पांच केंद्रीय लोक उपक्रमों से 413 करोड़ रुपये लाभांश मिले Views:4591

बैकरेट खेल के प्रकार लॉटरी खेल सम्बाद 10cric टेलीग्राम,casumo गेल्ड ज़ुरुकी,लियोवेगास स्पोर्ट,lovebet शिकायत संख्या,lovebet ओ ८८८स्पोर्ट,lovebet ज़रागोज़ा,क्या ऑनलाइन पैसे का खेल मजेदार है? क्या यह अधिक पेशेवर है?,बैकरेट फ्री गेम,बैकारेट वीडियो जीत या हार,सट्टेबाजी लोगो डिजाइन,कैसीनो बेल्जियम,कैसीनो वीनस,क्लासिक रम्मी टिप्स,क्रिकेट लेन चेस्टर nj,ई+शतरंज इवो,घातांक नियम,फ़ुटबॉल ऑफ़साइड,उत्पत्ति कैसीनो की समीक्षा जुआरी से पूछें,फुटबॉल एशियाई खेल का विश्लेषण कैसे करें,आईपीएल समाचार,जैकपॉट वीडियो,लाइव लाठी युक्तियाँ,लॉटरी 10 करोड़,लॉटरी जोल्गेन्स्मा,एनबीए पसंदीदा सिफारिश,ऑनलाइन कैसीनो ज़ूम,कैलिफ़ोर्निया में ऑनलाइन पोकर कानूनी,परिमच इंडिया ऐप,पोकर हिंदी में,असली खजाना खेल,ब्रिटानिया में शासन,रम्मी वेरिएंट vba,स्लॉट मशीन कोपेन,स्पोर्ट्स 7 सीटर,स्पोर्ट्सबुक कैनसस सिटी,टेक्सास होल्डम मिनिक्लिप,कुल 2 से अधिक लवबेट,क्या चल रहा है,ज़ुझाउ लॉटरी वन,ऋतु बरसात,क्रिकेट dream11,गोवा चा किनारा वर सॉन्ग डाउनलोड,ढँकेसरी लाटरी सम्बाद,फुटबॉल हिस्ट्री इन हिंदी,बेटा शादी गीत,लॉटरी फास्ट, .सरकार को पांच केंद्रीय लोक उपक्रमों से 413 करोड़ रुपये लाभांश मिले

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) सरकार को एनएलसी और नालको समेत पांच केंद्रीय लोक उपक्रमों से लाभांश के रूप में 413 करोड़ रुपये मिले हैं।

निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘सरकार को एंट्रिक्स कॉरपोरेशन और एनएलसी से लाभांश किस्त के रूप में क्रमश: 78 करोड़ रुपये और 165 करोड़ रुपये मिले हैं।’’

इसके अलावा एनबीसीसी, कोचीन शिपयार्ड लि. और नालको ने लाभांश किस्त के रूप में क्रमश: 52 करोड़ रुपये, 24 करोड़ रुपये और 94 करोड़ रुपये दिये।

दीपम की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार चालू वित्त वर्ष में अबतक सरकार को केंद्रीय लोक उपक्रमों से लाभांश के रूप में 15,651 करोड़ रुपये मिले हैं।

इसके अलावा, केंद्रीय लोक उपक्रमों में अल्पांश हिस्सेदारी बिक्री के जरिये करीब 9,330 करोड़ रुपये जुटाये गये हैं।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Two’s company, three’s a cloud: the haze of Srei’s curious transactions with a trio of businessmen
Under the lens

Two’s company, three’s a cloud: the haze of Srei’s curious transactions with a trio of businessmen

6 mins read
As crude likely to hit 2008 highs, get ready to fork out INR150 for a litre of petrol
Oil prices

As crude likely to hit 2008 highs, get ready to fork out INR150 for a litre of petrol

7 mins read
3 Idiots clicked right, but India needs its own Samsung and Squid Game to hook global audience
Brands

3 Idiots clicked right, but India needs its own Samsung and Squid Game to hook global audience

12 mins read

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र की बिजली कंपनी एनटीपीसी का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में करीब छह प्रतिशत बढ़कर 3,690.95 करोड़ रुपये रहा। आय बढ़ने से कंपनी का लाभ बढ़ा है। एनटीपीसी ने बृहस्पतिवार को शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2020-21 की इसी तिमाही में उसे 3,494.61 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी की आय आलोच्य तिमाही में बढ़कर 33,095.67 करोड़ हो गयी जो एक साल पहले 2020-21 की जुलाई-सितंबर तिमाही में 28,677.64 करोड़ रुपये थी। एनटीपीसी का सकल बिजली उत्पादन सितंबर 2021 को समाप्त तिमाहीनयी दिल्ली 28 अक्टूबर (भाषा) नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) गिरीश चंद्र मुर्मू ने बृहस्पतिवार को कहा कि शीर्ष ऑडिट संस्थानों द्वारा तैयार की गई कोविड अनुपालन लेखा परीक्षण से सरकारों को कोविड-19 महामारी के प्रबंधन को बेहतर करने में मदद मिली है। मुर्मू ने सर्वोच्च ऑडिट संस्थानों का अंतरराष्ट्रीय संगठन- इंटोसाई की अनुपालन ऑडिट उप-समिति (सीएएस) की 18वीं ऑनलाइन वार्षिक बैठक को संबोधित करते हुए यह बात कही। आधिकारिक विज्ञपति के अनुसार कैग ने कहा कि शीर्ष ऑडिट संस्थानों द्वारा तैयार कोविड अनुपालन ऑडिट से सरकारों को महामारी प्रबंधन रणनीतियों में सुधार करने में मदद मिली। उन्होंनेजम्मू-कश्मीर सरकार प्रतिकूल मौसम की वजह से किसानों को हुए नुकसान की भरपाई करेगी: सिन्हा

इसके साथ ही देश के इस सबसे बड़े बैंक ने कहा कि वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्‍कीम (वीआरएस) लागत में कटौती करने के लिए नहीं है.कई ग्राहक मोरेटोरियम और उससे पड़ने वाले असर को नहीं समझते हैं. इसे देखते हुए कलेक्‍शन में बाधा आई है.कोविड टीकों में वृद्धि से कम आय वाले देशों को करना पड़ सकता है सिरिंज की कमी का सामना

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) कृषि रसायन उद्योग निकाय - क्रॉपलाइफ इंडिया ने बृहस्पतिवार को कहा कि सरकार को आगामी बजट में कृषि रसायनों - ‘टेक्निकल’ और ‘फॉर्मूलेशन’ दोनों के लिए 10 प्रतिशत का एक समान बुनियादी सीमा शुल्क बनाए रखना चाहिए। साथ ही उनपर जीएसटी को कम करते हुए इसे 12 प्रतिशत करना चाहिए। क्रॉपलाइफ इंडिया ने एक बयान के जरिये, कृषि रसायन कंपनियों द्वारा अनुसंधान और विकास खर्च पर 200 प्रतिशत भारंश कटौती की भी मांग की। क्रॉपलाइफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, ए सेन2020 के पहले छह महीनों में केपजेमिनी ने 9,500 लोगों की भर्ती की है. सेकेंड हाफ में उसकी 13,500 लोगों को रिक्रूट करने की योजना है.कोविड के बीच जानिए कहां मिल रही हैं नौकरियां

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
स्पोर्ट्सबुक पूल वेगास

इसके साथ ही देश के इस सबसे बड़े बैंक ने कहा कि वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्‍कीम (वीआरएस) लागत में कटौती करने के लिए नहीं है.

एनबीए सट्टेबाजी साइट

पेटीएम के सीएचआरओ रोहित ठाकुर ने ईटी को बताया कि पिछले तीन से चार महीनों में कंपनी ने करीब 700 लोगों की भर्ती की है. इन्‍हें ऑनलाइन रिक्रूट किया गया है.

लॉटरी ऑनलाइन ब्रिटेन

वाशिंगटन, 28 अक्टूबर (एपी) अमेरिकी अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर जुलाई-सितंबर तिमाही में धीमी पड़कर दो प्रतिशत रही। पिछले साल महामारी के कारण आई मंदी के बाद से जारी पुनरूद्धार के दौरान किसी तिमाही में यह सबसे कम वृद्धि दर है। वाणिज्य विभाग ने बृहस्पतिवार को रिपोर्ट में यह जानकारी दी। उसने कहा कि पिछली दो तिमाहियों में वृद्धि दर 6 प्रतिशत से अधिक रही थी और पिछली तिमाही की वृद्धि दर उससे काफी कम रही। हालांकि, कोविड संक्रमण के मामलों में कमी, टीकाकरण की दर बढ़ने और उपभोक्ता खर्च बढ़ने को देखते हुए कई अर्थशास्त्रियों का मानना है कि जीडीपी (सकल

क्रिकेट कल विजेता

वाशिंगटन, 28 अक्टूबर (एपी) अमेरिकी अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर जुलाई-सितंबर तिमाही में धीमी पड़कर दो प्रतिशत रही। पिछले साल महामारी के कारण आई मंदी के बाद से जारी पुनरूद्धार के दौरान किसी तिमाही में यह सबसे कम वृद्धि दर है। वाणिज्य विभाग ने बृहस्पतिवार को रिपोर्ट में यह जानकारी दी। उसने कहा कि पिछली दो तिमाहियों में वृद्धि दर 6 प्रतिशत से अधिक रही थी और पिछली तिमाही की वृद्धि दर उससे काफी कम रही। हालांकि, कोविड संक्रमण के मामलों में कमी, टीकाकरण की दर बढ़ने और उपभोक्ता खर्च बढ़ने को देखते हुए कई अर्थशास्त्रियों का मानना है कि जीडीपी (सकल

खेल 01

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) उच्चतम न्यायालय ने बृहस्पतिवार को दिल्ली उच्च न्यायालय के उस आदेश को रद्द कर दिया, जिसमें अदालत ने भारती एयरटेल को जुलाई से सितंबर 2017 तक जीएसटी के रूप में चुकाए गए अतिरिक्त 923 करोड़ रुपये को वापस करने के लिए कहा था। शीर्ष अदालत ने कहा कि गलतियों और चूक को सुधारने की अनुमति केवल शुरुआती चरणों में है। न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी की पीठ ने उच्च न्यायालय के पांच मई 2020 के फैसले के खिलाफ केंद्र की अपील को स्वीकार किया। उच्च न्यायालय ने एयरटेल को फॉर्म जीएसटीआर-3बी, जीएसटी

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
लाइव कैसीनो साइटों भारत

नयी दिल्ली 28 अक्टूबर (भाषा) नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) गिरीश चंद्र मुर्मू ने बृहस्पतिवार को कहा कि शीर्ष ऑडिट संस्थानों द्वारा तैयार की गई कोविड अनुपालन लेखा परीक्षण से सरकारों को कोविड-19 महामारी के प्रबंधन को बेहतर करने में मदद मिली है। मुर्मू ने सर्वोच्च ऑडिट संस्थानों का अंतरराष्ट्रीय संगठन- इंटोसाई की अनुपालन ऑडिट उप-समिति (सीएएस) की 18वीं ऑनलाइन वार्षिक बैठक को संबोधित करते हुए यह बात कही। आधिकारिक विज्ञपति के अनुसार कैग ने कहा कि शीर्ष ऑडिट संस्थानों द्वारा तैयार कोविड अनुपालन ऑडिट से सरकारों को महामारी प्रबंधन रणनीतियों में सुधार करने में मदद मिली। उन्होंने