ऑनलाइन गेम आर्केड

ऑनलाइन गेम आर्केड

time:2021-10-26 01:33:41 मौजूदा तिमाही में नियुक्ति गतिविधियां बढ़ी: रिपोर्ट Views:4591

बेटिका जैकपॉट गेम परिणाम ऑनलाइन गेम आर्केड 188bet कंबोडिया,casumo भुगतान नहीं कर रहा है,leovegas,lovebet दी डोंग,lovebet मालिक,lovebet.f,एयू फुटबॉल स्कोर,बैकारेट घोस्ट,पैसे के साथ बैकारेट,बेटिंग राजा अभिनेता का नाम,कैसीनो के दिन ५० मुफ्त स्पिन,कैसीनो योंकर्स,कॉम.क्रिकेट.लाइव लाइन,क्रिकेट का शोर,ईस्पोर्ट्स बेटिंग प्लेटफॉर्म,फंतासी फुटबॉल लॉटरी विचार,फुटबॉल स्कोर भविष्यवाणी विधि,जीएच फुटबॉल समाचार,विदेशी जुआ साइटों से कैसे संपर्क करें,आईपीएल तालिका बिंदु 2021,जेसी होगन क्रिकेट किताब,लाइव कैसीनो संपर्क नंबर,लॉटरी 7 स्टार,लूडो बोर्ड,नई क्रिकेट किताब 2020,ऑनलाइन फुटबॉल सट्टेबाजी मंच,ऑनलाइन पोकर रैंकिंग,पैरिमैच नो डिपॉजिट बोनस,पोकर लिंक अल्टरनेटिफ़,रील स्लॉट्स यू ट्यूब,नियम परेतो,रम्मी-0 नियम,स्लॉट मशीन क्वांटो पैगानो,स्पोर्ट्स औक्स पुसेस,स्पोर्ट्सबुक पीएनजी,टेक्सास होल्डम रेगोले,त्रिकोणीय पोकर ऑनलाइन,सबसे मजबूत बैकारेट वेबसाइट कहां है,यूट्यूब शतरंज,ऑनलाइन गेम्स प्ले,क्रिकेट meaning in english,गोवा थाना,तीन पत्ती का,बकरा जिबह करने की दुआ,बेताब मूवी सनी देओल,वह फुटबॉल खेलता है in english, .मौजूदा तिमाही में नियुक्ति गतिविधियां बढ़ी: रिपोर्ट

मुंबई, 25 अक्टूबर (भाषा) देश में मौजूदा तिमाही में नियुक्ति गतिविधियां बढ़ रही हैं, जिससे रोजगार बाजार में सुधार और मजबूती का पता चलता है।

एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में अक्टूबर-दिसंबर, 2021 की तिमाही में भर्ती संबंधी गतिविधियों में वृद्धि मुख्य रूप से इंजीनियरिंग और विनिर्माण के साथ-साथ प्रौद्योगिकी क्षेत्रों के अच्छे प्रदर्शन की वजह से हो रही है।

वैश्विक नियुक्तियां विशेषज्ञ माइकल पेज ने यह रिपोर्ट जारी की है और यह उसके भारत से संबंधित विशिष्ट डेटा पर आधारित है।

इसमें कहा गया है कि भर्ती से जुड़ी गतिविधियों में उछाल आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि, पिछले कुछ महीनों में सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर चलाए गए टीकाकरण अभियान और कोविड-19 की दूसरे लहर के कमजोर पड़ने को दर्शाता है।

चालू तिमाही में कानूनी और मानव संसाधन क्षेत्र जैसे गैर-आईटी क्षेत्रों में भी नौकरी के अवसरों में पर्याप्त वृद्धि देखी गयी।

रिपोर्ट में कहा गया कि चालू तिमाही में नियुक्तियों में 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई है लेकिन व्यापक रूप से देखने पर पिछले साल की तुलना में भर्ती गतिविधियों में 50 प्रतिशत से अधिक की तेजी आयी है।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

मुंबई, 25 अक्टूबर (भाषा) देश में मौजूदा तिमाही में नियुक्ति गतिविधियां बढ़ रही हैं, जिससे रोजगार बाजार में सुधार और मजबूती का पता चलता है। एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में अक्टूबर-दिसंबर, 2021 की तिमाही में भर्ती संबंधी गतिविधियों में वृद्धि मुख्य रूप से इंजीनियरिंग और विनिर्माण के साथ-साथ प्रौद्योगिकी क्षेत्रों के अच्छे प्रदर्शन की वजह से हो रही है। वैश्विक नियुक्तियां विशेषज्ञ माइकल पेज ने यह रिपोर्ट जारी की है और यह उसके भारत से संबंधित विशिष्ट डेटा पर आधारित है। इसमें कहा गया है कि भर्ती से जुड़ी गतिविधियों में उछाल आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि,दुबई, 25 अक्टूबर (भाषा) कोलकाता के दिग्गज उद्योगपति संजीव गोयनका के आरपी-एसजी समूह ने सोमवार को इंडियन प्रीमियर लीग की लखनऊ फ्रेंचाइजी 7090 करोड़ रुपये में खरीदी जबकि अंतरराष्ट्रीय इक्विटी निवेश फर्म सीवीसी कैपिटल ने अहमदाबाद फ्रेंचाइजी 5600 करोड़ रुपये की बोली लगाकर अपने नाम की।भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को 2022 से आईपीएल में हिस्सा लेने वाली दो नई टीमों से 10 हजार करोड़ रुपये के आसपास मिलने की उम्मीद थी लेकिन उसे 12,690 करोड़ रुपये की कमाई हुई।पीटीआई ने रविवार को अपनी खबर में कहा था कि गोयनका फ्रेंचाइजी खरीदने के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं। इससे पहले आईपीएल मेंसैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को महात्मा गांधी राष्ट्रीय फेलोशिप के दूसरे चरण की शुरुआत की। दो वर्षीय फेलोशिप का मकसद युवाओं के लिये अवसर सृजित करना और जमीनी स्तर पर कौशल विकास को बढ़ाना है। ‘फेलोशिप’ के तहत शैक्षणिक भागीदार आईआईएम (भारतीय प्रबंधन संस्थान) द्वारा कक्षा सत्रों को जिला स्तर पर क्षेत्र में व्यापक अनुभव के साथ संयोजित करने का प्रयास किया गया है। इसका उद्देश्य रोजगार, आर्थिक उत्पादन बढ़ाने और आजीविका को प्रोत्साहन देने के लिए विश्वसनीय योजनाएं बनाने तथा इनसे जुड़ी बाधाओं की पहचान करना है। इस मौके परअगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.नेशनल रिटेल पॉलिसी से 4 साल में पैदा होंगी 30 लाख नौकरियां : सीआईआई

नौकरी जॉबस्पीक्स इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डिजिटल बदलाव की लहर में सूचना प्रौद्योगिकी-सॉफ्टवेयर क्षेत्र लगातार इससे बचा हुआ है.पिछले साल से अब तक बड़े उतार-चढ़ाव हुए हैं. लोगों ने कोरोना की महामारी के कहर को देखा और अब जिंदगी को पटरी पर लौटते देख रहे हैं. शायद ही यह दौर भुलाए भूलेगा. हालांकि, इससे कई सबक भी मिले हैं. ये करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
लखनऊ में क्रिकेट अकादमी

मुंबई, 25 अक्टूबर (भाषा) देश में मौजूदा तिमाही में नियुक्ति गतिविधियां बढ़ रही हैं, जिससे रोजगार बाजार में सुधार और मजबूती का पता चलता है। एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में अक्टूबर-दिसंबर, 2021 की तिमाही में भर्ती संबंधी गतिविधियों में वृद्धि मुख्य रूप से इंजीनियरिंग और विनिर्माण के साथ-साथ प्रौद्योगिकी क्षेत्रों के अच्छे प्रदर्शन की वजह से हो रही है। वैश्विक नियुक्तियां विशेषज्ञ माइकल पेज ने यह रिपोर्ट जारी की है और यह उसके भारत से संबंधित विशिष्ट डेटा पर आधारित है। इसमें कहा गया है कि भर्ती से जुड़ी गतिविधियों में उछाल आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि,

बैकारेट 8 क्रिस्टल बाउल

आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.

सबसे प्रतिष्ठित शतरंज वेबसाइट

जब संस्‍थान में किसी कर्मचारी को नौकरी छोड़ने के लिए कहा जाता है तो वे आमतौर पर चौंक जाते हैं. लेकिन, कई मामलों में इसके संकेत पहले से मिलने लगते हैं. बात सिर्फ इतनी होती है कि कर्मचारी इन संकेतों का मतलब समझकर सुधार की दिशा में कदम नहीं उठा पाते हैं. आइए, यहां ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं.

casumo पेपैल

कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.

स्लॉट 4u

आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.

संबंधित जानकारी
जोकर रिमिक्स

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कपड़ा मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि उसने सड़कों, राजमार्गों, रेलवे और जल संसाधनों सहित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में जियो-टेक्सटाइल के इस्तेमाल के लिए कर्मियों को प्रशिक्षित करने को एक पायलट परियोजना को मंजूरी दे दी है। जियो-टेक्सटाइल एक तरह का फ्रैबिक होता है जिसे मिट्टी के मिलाकर इस्तेमाल करने पर एक मजबूत फ्रैबिक का निर्माण होता है। इसे आमतौर पर पॉलीप्रोपीलिन या पॉलिस्टर से बनाया जाता है। परियोजना का संचालन भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी), बेंगलोर, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की समानांतर रूप से करेंगे। एक आधिकारिक बयान में कहा गया

बोनस विजेता 2021

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कपड़ा मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि उसने सड़कों, राजमार्गों, रेलवे और जल संसाधनों सहित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में जियो-टेक्सटाइल के इस्तेमाल के लिए कर्मियों को प्रशिक्षित करने को एक पायलट परियोजना को मंजूरी दे दी है। जियो-टेक्सटाइल एक तरह का फ्रैबिक होता है जिसे मिट्टी के मिलाकर इस्तेमाल करने पर एक मजबूत फ्रैबिक का निर्माण होता है। इसे आमतौर पर पॉलीप्रोपीलिन या पॉलिस्टर से बनाया जाता है। परियोजना का संचालन भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी), बेंगलोर, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की समानांतर रूप से करेंगे। एक आधिकारिक बयान में कहा गया

गरम जानकारी