उत्पत्ति कैसीनो समर्थन

उत्पत्ति कैसीनो समर्थन

time:2021-10-29 02:35:26 फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये Views:4591

बैकारेट सट्टेबाजी का समय उत्पत्ति कैसीनो समर्थन 188bet शक्ति,fun88 android,lovebet 2021,lovebet जी,lovebet एस/पी,लवबेथपेज,बकारट 450,बैकरेट लिंक,सर्वश्रेष्ठ पांच पुस्तकें,ऑनलाइन कैसीनो का बड़ा विजेता,कैसीनो गेम्स ऐप,शतरंज 0 एलो,क्रिकेट 6 गेंद 6 छक्का,दुनिया में क्रिकेट टीम,निर्यात पोषण,फुटबॉल 5 नंबर,फ़ुटबॉल और रूंबा,एच खेल चप्पल,जमीन पर फुटबॉल कैसे खेलें,क्या लवबेट हम में कानूनी है,जंगल रम्मी.कॉम नियम और शर्तें,लाइव कैसीनो नए ग्राहक ऑफ़र,लॉटरी यूरोप,लूडो निंजा लाइट,आधिकारिक राजकुमार ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन गेम हैक ऐप डाउनलोड,ऑनलाइन प्रतिष्ठा,पेरिफेरल फुटबॉल टर्म,पोकर नियम हिंदी में,रूले कैलकुलेटर,रम्मी 360,रम्मीकल्चर मोबाइल ऐप,स्लॉट 101,स्पोर्ट्स जीके प्रश्न हिंदी में,सुपर बेटिंग मुफ्त है,सबसे अच्छा फुटबॉल टीम गीत,अंडुह १८८बेट,दुनिया में सबसे बड़ा चीनी रूले कौन सा है,64 स्टेटस वीडियो डाउनलोड,ऑनलाइन पैसे बनाएं translate,क्रिकेट घोषणा,गोवा स्थापना दिवस,तीन पत्ती स्टार गोल्ड,बरसात आने की संभावना,मछली पकड़ने का राजा,स्टेटस ओनली, .फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.
नई दिल्ली: फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से मैच्योरिटी, पूर्व भुगतान और कूपन भुगतान से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इसके लिए डेट बाजार में लिक्विडिटी की कमी तथा लोगों द्वारा निकासी के दबाव का हवाला दिया गया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.

ये योजनाएं 'फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड, फ्रैंकलिन इंडिया डायनेमिक एक्यूरल फंड, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड, फ्रैंकलिन इंडिया शॉर्ट टर्म इनकम प्लान, फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शॉर्ट बॉन्ड फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपर्चुनिटीज फंड' हैं.

इसे भी पढ़ें: इनकम टैक्स भरने के लिए जारी हुआ नया आईटीआर फॉर्म, जानिए क्या हैं बदलाव

कंपनी ने अपने बयान में कहा, "छह योजनाओं को 31 मार्च, 2021 तक कुल 15,776 करोड़ रुपये का नकदी मिली है." इस साल 31 मार्च को समाप्त हुए पखवाड़े में इन योजनाओं को 505 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने कहा कि फ्रैंकलिन इंडिया इनकम ऑपर्चुनिटीज फंड ने अपने सभी बकाया उधारी को चुका दिया है. इस तरह अब सभी छह योजनाएं नकदी के हिसाब से सकारात्मक हो गई हैं और इनके पास 1,370 करोड़ रुपये का फंड बचा हुआ है.




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

फ्रैंकलिन टेंमपलटन म्यूचुअल फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट म्यूचुअल फंडसेबीशेयर बाजारफ्रैंकलिन टेंमपलटनम्यूचुअल फंड्सफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन की बंद स्कीमें

ETPrime stories of the day

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis
Logistics

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis

4 mins read
China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.
R&D

China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.

9 mins read
As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles
Insurance

As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles

11 mins read

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) उच्चतम न्यायालय ने बृहस्पतिवार को दिल्ली उच्च न्यायालय के उस आदेश को रद्द कर दिया, जिसमें अदालत ने भारती एयरटेल को जुलाई से सितंबर 2017 तक जीएसटी के रूप में चुकाए गए अतिरिक्त 923 करोड़ रुपये को वापस करने के लिए कहा था। शीर्ष अदालत ने कहा कि गलतियों और चूक को सुधारने की अनुमति केवल शुरुआती चरणों में है। न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी की पीठ ने उच्च न्यायालय के पांच मई 2020 के फैसले के खिलाफ केंद्र की अपील को स्वीकार किया। उच्च न्यायालय ने एयरटेल को फॉर्म जीएसटीआर-3बी, जीएसटीबेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.जियो ने 2016 की स्पेक्ट्रम नीलामी के बकाया मद में 10,700 करोड़ रुपये का भुगतान किया

साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बृहस्पतिवार को कहा कि सरकार प्रतिकूल मौसम की वजह से हुए नुकसान के लिए किसानों को पूरी वित्तीय सहायता मुहैया कराएगी। एक सरकारी बयान में कहा गया है कि केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और उपराज्यपाल सिन्हा ने श्रीनगर में आयोजित एक सेब महोत्सव का ‘ऑनलाइन’ उद्घाटन किया। सिन्हा ने इस मौके आश्वासन दिया, ‘‘जम्मू-कश्मीर में प्रतिकूल मौसम के कारण हुए नुकसान के लिए केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासन द्वारा किसानों को पूर्ण वित्तीयओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) उच्चतम न्यायालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि किसी वित्तीय सौदे में बतौर ‘सिक्योरिटी’ जारी किए गए चेक को बेकार कागज का टुकड़ा नहीं माना जा सकता। न्यायालय ने कहा कि ‘सिक्योरिटी’ अपने सही मायने में सुरक्षा के लिए है और कर्ज के लिए सुरक्षा भुगतान की प्रतिज्ञा के रूप में दी जाती है। शीर्ष अदालत ने यह भी कहा कि सिर्फ चेक बाउंस होने को धोखाधड़ी के इरादे से किया गया कार्य नहीं माना जा सकता है। न्यायमूर्ति एम आर शाह और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने कहा कि चेक यह सुनिश्चित करनेनयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) सरकार को एनएलसी और नालको समेत पांच केंद्रीय लोक उपक्रमों से लाभांश के रूप में 413 करोड़ रुपये मिले हैं। निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘सरकार को एंट्रिक्स कॉरपोरेशन और एनएलसी से लाभांश किस्त के रूप में क्रमश: 78 करोड़ रुपये और 165 करोड़ रुपये मिले हैं।’’ इसके अलावा एनबीसीसी, कोचीन शिपयार्ड लि. और नालको ने लाभांश किस्त के रूप में क्रमश: 52 करोड़ रुपये, 24 करोड़ रुपये और 94 करोड़ रुपये दिये। दीपम की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार चालू वित्त वर्ष में अबतक सरकार को केंद्रीयसरकार को पांच केंद्रीय लोक उपक्रमों से 413 करोड़ रुपये लाभांश मिले

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
रमी वेरिएंट प्रश्नोत्तरी

एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.

वीडियो क्रिकेट

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने बृहस्पतिवार को जी20 देशों से महामारी संबंधी व्यापार प्रतिबंधों को खत्म करने और कोविड-19 के खिलाफ कड़ी प्रतिक्रिया पर जोर देने का आह्वान किया। जी20 के सदस्यों में भारत, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, जापान, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं। डब्ल्यूटीओ वैश्विक निर्यात और आयात के लिए नियम बनाता है और सदस्य देशों के बीच व्यापार विवादों में निर्णय लेता है। विश्व व्यापार संगठन ने एक बयान में कहा, ‘‘इस सप्ताह के अंत में रोम में जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन से पहले, महानिदेशक नोगोजी ओकोन्जो-इवेला ने जी20

याकूब 0 पोकर गाइड

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.

lovebet संचायक

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) उच्चतम न्यायालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि किसी वित्तीय सौदे में बतौर ‘सिक्योरिटी’ जारी किए गए चेक को बेकार कागज का टुकड़ा नहीं माना जा सकता। न्यायालय ने कहा कि ‘सिक्योरिटी’ अपने सही मायने में सुरक्षा के लिए है और कर्ज के लिए सुरक्षा भुगतान की प्रतिज्ञा के रूप में दी जाती है। शीर्ष अदालत ने यह भी कहा कि सिर्फ चेक बाउंस होने को धोखाधड़ी के इरादे से किया गया कार्य नहीं माना जा सकता है। न्यायमूर्ति एम आर शाह और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने कहा कि चेक यह सुनिश्चित करने

betway in hindi meaning

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने बृहस्पतिवार को जी20 देशों से महामारी संबंधी व्यापार प्रतिबंधों को खत्म करने और कोविड-19 के खिलाफ कड़ी प्रतिक्रिया पर जोर देने का आह्वान किया। जी20 के सदस्यों में भारत, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, जापान, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं। डब्ल्यूटीओ वैश्विक निर्यात और आयात के लिए नियम बनाता है और सदस्य देशों के बीच व्यापार विवादों में निर्णय लेता है। विश्व व्यापार संगठन ने एक बयान में कहा, ‘‘इस सप्ताह के अंत में रोम में जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन से पहले, महानिदेशक नोगोजी ओकोन्जो-इवेला ने जी20

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी