लॉटरी 7 स्टार

लॉटरी 7 स्टार

time:2021-10-26 00:25:20 नियमित आमदनी के लिए इन पांच विकल्प में निवेश कर सकते हैं सीनियर सिटीजन Views:4591

ऑनलाइन नकद सट्टेबाजी नेटवर्क लॉटरी 7 स्टार 10cric असली या नकली,casumo फर्स्ट डिपॉजिट बोनस,लियोवेगास समीक्षा पूछेंजुआरी,lovebet कैसीनो भारत,lovebet नाइजीरिया ऐप,lovebet ज़कलाडी,ऐप या परिमैच,बैकरेट फॉर्मूला फोरम,बैकारेट गेंडा,सट्टेबाजी राजा भविष्यवाणी,कैसीनो या पुर्तगाल,कैसीनो अद्यतन,क्लासिक रम्मी समीक्षा,क्रिकेट कीपर,ई खेल के नाम,यूरोपीय प्रारंभिक अनुसूची,फुटबॉल ओ.जी.ओ,उत्पत्ति कैसीनो पेपैल,रम्मी कितने अंक है,आईपीएल लोगो,जैकपॉट ब्रिटेन,लाइव लाठी दक्षिण अफ्रीका,ऑनलाइन baccarat में खोया पैसा,लॉटरी योग गणना,एनबीए सट्टेबाजी मंच,ऑनलाइन कैसीनो वेबसाइट,ऑनलाइन पोकर सिर्फ दोस्तों के साथ,पैरिमैच हैक,पोकर आई टीवी,दुनिया में शीर्ष दस सट्टेबाजी कंपनियों की रैंकिंग,फॉलो ऑन का नियम,रम्मी वेरिएंट लिस्ट,स्लॉट मशीन जैमर ऐप,स्पोर्ट्स 52 शॉर्ट्स पहनें,स्पोर्ट्सबुक नौकरी विवरण,टेक्सास होल्डम लेआउट,दुनिया में शीर्ष दस गेमिंग कंपनियां,यारा नियम क्या है,xgames स्लॉट,उदासी स्टेटस,क्रिकेट app,गोवा गाना,डिलीट video रिकवरी एप्प डाउनलोड,फुटबॉल सुनील छेत्री,बेटा लांगुरिया,लॉटरी धनराशि,होली रमी .नियमित आमदनी के लिए इन पांच विकल्प में निवेश कर सकते हैं सीनियर सिटीजन

घटते ब्याज दरों के इस दौर में नियमित आय के विकल्प कम हुए हैं.
घटते ब्याज दरों के इस दौर में नियमित आय के विकल्प कम हुए हैं. बहुत से निवेशक अपनी पूंजी पर नियमित आय के विकल्प ढूंढते रहते हैं. पिछले कुछ समय से घटते ब्याज दरों वाले दौर में उन पर बहुत अधिक असर पड़ा है.

इस समय जब देश के शीर्ष बैंक सीनियर सिटीजन को पांच-छह साल के फिक्स डिपॉजिट पर अधिकतम 6 फ़ीसदी का ब्याज दे रहे हैं, तुलनात्मक रूप से पोस्ट ऑफिस छोटी बचत योजना पर ब्याज दरें अधिक हैं.

इसे भी पढ़ें: मार्च 2021 में आईआईपी में कमजोरी, खुदरा महंगाई बढ़कर 5.5 फीसदी पर पहुंची

निवेश जगत के जानकारों का हालांकि मानना है कि छोटी बचत पर ब्याज दरें बहुत लंबे समय तक कायम रहने वाली नहीं है. सरकार समय-समय पर इन ब्याज दरों में कटौती करती रहती है. अप्रैल-जून तिमाही के लिए हालांकि सरकार ने पहले ब्याज दरों में कमी की थी लेकिन बाद में उस फैसले को वापस ले लिया गया.

इस माहौल में हम सीनियर सिटीजन के लिए निवेश के पांच ऐसे विकल्प बता रहे हैं जिससे उनकी मेहनत की कमाई पर अच्छी नियमित आय आती रहे.

1. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (एससीएसएस)
वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (एससीएसएस) एक सरकार समर्थित बचत योजना है. यह 60 साल से अधिक उम्र के भारत के निवासियों के लिए शुरू की गई है. एससीएसएस में खाता खोलने की तारीख से 5 साल के बाद जमा राशि मैच्योर होती है. इसके बाद यह अवधि एक बार अतिरिक्त 3 साल के लिए बढाई जा सकती है.

अप्रैल-जून 2021 के लिए एससीएसएस पर ब्याज़ दर 7.4% निर्धारित की गई है. भारत में छोटी बचत योजनाओं में यह उच्चतम ब्याज़ दर है. एससीएसएस में खाता सार्वजनिक/निजी क्षेत्र के बैंकों और भारत के डाकघरों के माध्यम से खोला जा सकता है. एससीएसएस में अधिकतम 15 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है.

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना खाते में किए गए निवेश पर आयकर कानून 1961 के सेक्शन 80 C के तहत आयकर कटौती का लाभ मिलता है .

2. पोस्ट ऑफिस मासिक बचत योजना (पीओएमआईएस)
डाकघर मासिक आय योजना (पीओएमआईएस) सीनियर सिटीजन के लिए निवेश का सही विकल्प है. मासिक आय योजना (एमआईएस) केन्द्रीय संचार मंत्रालय के तहत चलाई जाने वाली एक निवेश योजना है. डाकघर मासिक आय योजना (पीओएमआईएस) एफडी की तुलना में ज्यादा रिटर्न देता है.

पीओएमआईएस से आपको एक निश्चित मासिक आय होती है. पीओएमआईएस में आप न्यूनतम 1500 रुपये हर महीने जमा करके निवेश शुरू कर सकते हैं. डाकघर मासिक आय योजना (पीओएमआईएस) पर इस समय 6.6 फीसदी सालाना ब्याज मिलता है.

डाकघर मासिक आय योजना (पीओएमआईएस) के लिए परिपक्वता अवधि 5 वर्ष है. इस स्कीम में आप अधिकतम 9 लाख रुपये ही निवेश कर सकते हैं. अगर आप डाकघर मासिक आय योजना (पीओएमआईएस) में अपनी पत्नी या बच्चों के साथ ज्वाइंट अकाउंट खोलते हैं तो भी 9 लाख रुपये तक ही निवेश कर सकते हैं.

3. पीएम वय वंदन योजना (पीएमवीवीवाई)
पीएमवीवीवाई वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक सामाजिक सुरक्षा योजना है. पीएमवीवीवाई को संचालित करने के लिए एलआईसी पूरी तरह अधिकृत संस्था है. यह योजना एक नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग पेंशन स्कीम है. इस योजना में भारत सरकार ने सब्सिडी दी है.

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना सीनियर सिटीजन के लिए उपलब्ध पेंशन स्कीम है. मासिक पेंशन का विकल्प चुनने पर वरिष्ठ नागिरकों को स्कीम में 10 साल तक एक तय दर से गारंटीशुदा पेंशन मिलती है. यह स्कीम डेथ बेनिफिट की भी पेशकश करती है. इसके तहत नॉमिनी को खरीद मूल्य वापस किया जाता है. पीएमवीवीवाई में अब अधिकतम 7.75 फीसदी ब्याज की सीमा तय कर दी गई है.

पीएमवीवीवाई में 60 वर्ष या इससे अधिक के सीनियर सिटीजन निवेश कर सकते हैं. अधिकतम उम्र की सीमा नहीं है. एक व्यक्ति अधिकतम 15 लाख रुपये स्कीम में निवेश कर सकता है.

4. फ्लोटिंग रेट सेविंग बांड (एफआरएसबी)
फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड 2020 में सीनियर सिटीजन 7 साल के लिए निवेश कर सकते हैं. हर 6 महीने में इस स्कीम में ब्याज दरें बदलती हैं और यह नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर दिए जाने वाले ब्याज दर के अलावा 35 बेसिस प्वाइंट जोड़कर दिया जाता है. 1 जनवरी और 1 जुलाई को साल में दो बार फ्लोटिंग रेट सेविंग बांड पर ब्याज दिया जाता है. इस समय एफआरएसबी में 7.15 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है. इस स्कीम के साथ एक दिक्कत वाली बात यह है कि निवेशक के हाथ में आने पर इसके ब्याज पर आपको टैक्स चुकाना पड़ता है. इस स्कीम में ऊपरी निवेश की कोई सीमा नहीं है.

5. बैंक फिक्स्ड डिपाजिट
नियमित आय चाहने वाले निवेशकों के लिए बैंक फिक्स डिपाजिट हमेशा से एक लोकप्रिय विकल्प रहा है. पिछले कुछ वक्त में बैंक फिक्स डिपाजिट का आकर्षण घटा है क्योंकि ब्याज दरों में लगातार कमी आ रही है. बैंक में फिक्स डिपॉजिट कर सीनियर सिटीजन अपने हाथ में आने वाली रकम की फ्रीक्वेंसी पहले से ही तय कर सकते हैं.

वह मासिक निकासी चाहते हैं या तिमाही, छमाही निकासी चाहते हैं या सालाना, यह सब पहले से तय किया जा सकता है. इस समय अधिकतर बैंक 5 से 10 साल की अवधि के लिए सीनियर सिटीजन को फिक्स डिपॉजिट पर छह फीसदी ब्याज देते हैं. कुछ स्मॉल फाइनेंस बैंक और कोऑपरेटिव बैंक सीनियर सिटीजन को फिक्स डिपॉजिट करने पर 7 फ़ीसदी से अधिक का ब्याज दे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: कोरोना टीका लगाने के बाद आपको एफडी पर मिलेगा अधिक ब्याज!

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें

टॉपिक

नियमित आयनिवेशबुजुर्गरेगुलर इनकमसीनियर सिटीजन

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read

फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की बंद हो चुकी स्कीमों के निवेशकों को इस हफ्ते पैसे मिल जाएंगे. छह स्कीमों के निवेशकों को 2,962 करोड़ रुपये इस हफ्ते मिल जाएंगे.ब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया.बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

अगर आप युवा (20 के पड़ाव में) हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत शुरू करना चाहते हैं तो आपका निवेश इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में ज्‍यादा होना चाहिए.नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए इक्विटी या डेट फंड में से किसमें निवेश करें?

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.यूलिप और म्यूचुअल फंड में इन 5 बड़े अंतरों को जान लें, होगा फायदा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
क्रिकेट चैनल

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

lovebet त्वरित निकासी

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.

स्पोर्ट365

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.

लाइव फुटबॉल आधिकारिक वेबसाइट

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

बरसात ओके

निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी